एक देश एक राशन कार्ड योजना: Ek Desh Ek Ration Card Yojana | One Nation One Ration Card Yojana

कोरोना महामारी  संकट के चलते हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को आर्थिक पैकेज की दूसरी किस्त की घोषणा की . इस दौरान उन्होने एक विशेष वर्ग जो की प्रवासी मजदूर, किसान और रेहड़ी-पटरी पर काम करने वाले कामगार है उनके लिए 9 बड़े ऐलान किए. इस दौरान उन्‍होंने बताया कि देशभर में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को लागू किया जाएगा. Ek Desh Ek Ration Card Yojana

 केंद्रीय खाद्य मंत्री और सार्वजनिक वितरण मंत्री  रामविलास पासवान जी के द्वारा यह बताया गया की  एक देश एक राशन कार्ड योजना   को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यही है की देश के किसी भी क्षेत्र के नागरिक अपने राशन कार्ड के माध्यम से देश के किसी भी राज्य की PDS राशन की दुकान से अपने हिस्से का राशन प्राप्त करने में पूरी तरह से स्वतंत्र रहेंगे ओर उचित मूल्य पर राशन प्राप्त कर सकेंगे | योजना 2020 के तहत  देश के हर एक नागरिक को राहत पहुंचाएगी |

एक देश एक राशन कार्ड योजना 1 Desh 1 Ration Card का तात्पर्य यह है की देश का कोई भी नागरिक जो किसी भी क्षेत्र का है वह अपने राशन कार्ड से किसी भी क्षेत्र की राशन की दुकान से उचित मूल्य पर राशन खरीद पाएगा |

One Nation One Ration Card Scheme के मुख्य तथ्य –

योजना का नाम एक देश एक राशन कार्ड योजना
इनके द्वारा पेश किया गया श्री राम विलास पासवान
उद्देश्य यह सुनिश्चित करने के लिए कि कोई भी व्यक्ति सब्सिडी वाले खाद्यान्न प्राप्त करने से वंचित न रहे
योजना की समय सीमा 30 जून 2030
लाभार्थी अखिल भारतीय राशन कार्ड धारक
नोडल एजेंसी भारतीय खाद्य निगम

 क्या है वन नेशन वन राशन कार्ड ? One Nation One Ration Card

केंद्र सरकार द्वारा यह बताया गया की वन नेशन वन राशन कार्ड लागू होने के बाद राशन कार्ड धारको को अपना राशन कार्ड बदलना नही पड़ेगा क्योकि उन्हे पुराने राशन कार्ड के जरिए पूरे देश में कही भी राशन मिल जाएगा |  इस योजना को शुरू करने का यही तात्पर्य है की पूरे देश का एक ही राशन कार्ड होगा जो भारत के किसी भी राज्य मे मान्य होगा | अगर आप किसी दूसरे राज्य मे जाते है ओर आपके पास उस राज्य का राशन कार्ड नहीं है लेकिन फिर भी आपको पुराने राशन कार्ड के जरिए राशन प्राप्त करवाया जाएगा ( पुराना राशन कार्ड मान्य होगा ) ओर आपको उस राज्य का नया राशन कार्ड बनाने की जरूरत नही है | आपको राशन उचित मूल्य पर प्राप्त करवाया जाएगा |

इस योजना को शुरू करने का सरकार का यही उदेश्य है की जो भी प्रवासी मजदूर है उनको राशन प्राप्त करने मे कोई तकलीफ न हो |

इससे भ्रष्‍टाचार और फर्जी राशन कार्ड में कमी आएगी |

इस वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के अंतर्गत देश के 23 राज्यों को 67 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। पीडीएस योजना के 83 फीसदी लाभार्थी इससे जोड़े जाएंगे। इस योजना के तहत मार्च 2021 तक इसमें 100 फीसदी लाभार्थी जुड़ जाएंगे। देश के नागरिक देश के किसी भी कोने से अपने राशन कार्ड के माध्यम से उचित मूल्य पर राशन की दुकान से राशन ले सकते हैं।

किन- किन राज्यों में है लागू ? Ek Desh Ek Ration Card Yojana

इस योजना के तहत सर्वप्रथम उत्तर प्रदेश और बिहार समेत देश के 17 राज्यों ने राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी को लागू कर दिया है. इसे लागू करने वालों में राजस्थान, गोवा, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, हरियाणा, गुजरात, महाराष्ट्र,  कर्नाटक, केरल, झारखंड और त्रिपुरा जैसे राज्य भी शामिल हैं.

 एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम 2020

केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान जी का यह कहना है की इस एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम Ek Desh Ek Ration Card Yojana  को 1 जून 2020 तक पुरे देशभर में लागू कर दिया जायेगा और उनके द्वारा यह भी बताया गया कि मौजूदा समय में राशन कार्ड के लिए 14 राज्यों में POS मशीन कि सुविधा शुरू कर दी गयी है जल्द ही दूसरे राज्यो में इस सुविधा को शुरू किया जायेगा | इस एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम को लागू करने के लिए देश की सभी PDS की दुकानों पर POS लगाना होगा |

अगर कोई व्यक्ति जो राज्य का निवासी है ओर वह किसी दूसरे राज्य में रहने लगता हे तो वह भी इस योजना का आसानी से लाभ उठा सकता हे ओर राज्य की किसी भी  पीडीएस राशन की दुकान से अपने हिस्से का राशन ले सकता है | केंदीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान जी ने जून 2019 को  सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशो को इस One Nation One Ration Card Scheme को शुरू करने का 1 साल तक का समय दिया था |

 One Nation One Ration Card New Update

केन्द्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान जी ने इस योजना की घोषणा पिछले साल जून में ही करदी थी । 2020 में  1 जनवरी को 12 राज्य एक-दूसरे के बीच एकीकृत हो गए और अब 17 राज्य सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के एकीकृत प्रबंधन पर हैं देश के बाकी हिस्से जो इस योजना के अंतेर्गत शामिल नही थे उनको भी इस साल जून तक शामिल कर दिया जाएगा |  इससे खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत कवर किए गए 810 मिलियन में से 600 मिलियन लाभार्थियों को लाभ होगा । इस One Nation One Ration Card Scheme के ज़रिये यह इन राज्यों के प्रवासी मजदूर  कामगारों के लिए एक बड़ी मदद होगी, ओर उनको राशन समय समय पर राशन प्राप्त हो पाएगा |

        हाइलाइट्स

  • वन नेशन वन राशन कार्ड योजना में लाभार्थियो को नहीं बदलना पड़ेगा राशन कार्ड |
  • पुराने राशन कार्ड के जरिए देश में कहीं भी किसी भी राशन की दुकान से उचित मूल्य पर मिलेगा राशन |
  • वन नेशन वन राशन कार्ड योजना में नया राशन कार्ड बनने की बात महज अफवाह है |

 एक देश एक राशन कार्ड योजना 2020 का उद्देश्य | Ek Desh Ek Ration Card Yojana

  • केंद्र सरकार इस योजना को पुरे देश के विभिन्न राज्यों में समय रहते आरम्भ करना चाहती है क्योकि अगर समय रहते इस योजना का लाभ लोगो को मिलेगा तो इसका उद्देश्य सफल होगा ओर जिससे अधिक से अधिक लोग इस योजना का लाभ उठा सकेंगे |
  • इस  one nation one ration card scheme  का ज्यादा लाभ प्रवासी मजदूरों को अधिक होगा | इन लोगो को पूरी खाद्य सुरक्षा मिलेगी |
  • एक देश एक राशन कार्ड योजना का उद्देश्य है कि देश में फ़र्ज़ी राशन कार्ड को रोकने में मदद मिलेगी और देश में चल रहे भष्टाचार को रोका जा सकेगा |
  • इस योजना के लागू होने के बाद यदि कोई व्यक्ति एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाता है तो उसे राशन लेने में कोई परेशानी नहीं होगी |

 इसे भी जाने – आत्म निर्भर अभियान

सबसे पहले इन राज्यों  में लागू की जाएगी योजना

राशन कार्ड  देश के 11 राज्यों में आधार से लिंक किया जा चुका है | यह योजना 1 जनवरी 2020 को आध्र प्रदेश ,तेलंगाना गुजरात, महाराष्ट्र ,हरियाणा ,झारखण्ड ,पंजाब ,कर्नाटक ,केरल त्रिपुरा ,राजस्थान आदि इन सभी 11 राज्यों मे लागू की जाएगी | खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग इस योजना को बढ़ावा देते हुए बड़े स्तर पर काम कर रही है | राज्यों में राशन का आवंटन प्वांइट ऑफ सेल के ज़रिये किया जा रहा है |

एक देश एक राशन कार्ड योजना 2020 के लाभ

  1. इस योजना का लाभ देश का प्रतेयक व्यक्ति जून 2020 से उठा पाएगा है |
  2. योजना का अधिक लाभ ऐसे लोग जो गरीब व रोजगार प्राप्त करने लिए दूसरे राज्य मे जाते है वह इस योजना का लाभ उठा सकेंगे |
  3. इस योजना के तहत देश के कई राज्यों में पीडीएस प्रणाली के एकीकृत प्रबंधन की शुरुआत हो चुकी है | जिसके अंतर्गत ,राजस्थान, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश ,गुजरात ,झारखण्ड,कर्नाटक हरियाणा,केरल ,त्रिपुरा तेलंगाना , आदि राज्य शामिल है |
  4. योजना के अनतेरगत सभी उपभोगता किसी भी राज्य के राशन वितरण के केंद्र से राशन लेने में पूर्ण रूप से स्वतंत्र रहेंगे ।
  5. इस एक देश, एक राशन कार्ड योजना को केंद्र सरकार समय रहते ही पूरे देश के विभिन्न राज्यो में स्थापित करना चाहती है ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोग इस योजना का लाभ उठा सकें।
  6. One Nation One Ration Card Scheme के तहत भ्रष्टाचार काफी हद तक कम हो जाएगा | ओर लाभार्थी अपने राशन कार्ड की मदद से उचित मूल्य पर अपने हक का राशन बड़ी आसानी से खरीद पाएंगे |

 

एक देश एक राशन कार्ड योजना 2020 में आवेदन कैसे करे?

 इस योजना का आवदेन ना ही तो ऑनलाइन होगा ओर ना ही ऑफलाइन इस योजना का आवेदन सरकर स्वयं  करेगी जो की इस प्रकार है – सभी राज्य  और केंद्र सरकार स्वयं उपलब्ध आकड़ो के अनुसार लाभार्थियों के राशन कार्ड फ़ोन पर आधार कार्ड से सत्यापित कर लिंक करेंगी | इसके बाद इंटीग्रेटेड मैनेजमेंट पब्लिक डिस्टीब्यूशन सिस्टम के अंतर्गत आकड़ो को उपलब्ध कराएगी | जिससे पात्र सभी नागरिक देश के किसी भी कोने से अपने हिस्से का राशन ले सकेंगे |

 एक राशन कार्ड स्कीम Ek Desh Ek Ration Card Yojana –

बिहार और उत्तर प्रदेश सहित पांच और राज्यों को ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’  योजना के साथ एकीकृत किया गया है। खाद्य मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि आज 5 और राज्यों – बिहार, यूपी, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और दमन और दीव को वन नेशन-वन राशन कार्ड सिस्टम के साथ एकीकृत किया गया है।एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड’ पहल के तहत, पात्र लाभार्थी देश में किसी भी उचित मूल्य की दुकान से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत अपने पात्र अनाज का लाभ उठा सकेंगे।

इसे भी जाने – 

दोस्तों आशा है आपको हमारे द्वारा बताई गयी जानकारी अच्छी लगी होगी | अगर जानकारी अच्छी लगी है तो हमें कमेंट करके बताये एवं अपने दोस्तों के साथ शेयर करे | साथ ही ऐसी और जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज को भी लाइक करे | धन्यवाद् | 

Leave a Reply